एक शोधपूर्ण सच्चाई ब्राजील की।

29 August, 2023

एक शोधपूर्ण सच्चाई ब्राजील की!!

ब्राजील देश ने हमारी देशी गायों का आयात कर अब तक अपने यहां गायों की संख्या 65 लाख कर ली है और इससे भी दोगुनी भारतीय देसी नस्ल की गायें उन लोंगो ने दूसरे देशों में निर्यात की है।

google पर Indian Cow in Brazil सर्च कर सकते हैं।

उन लोगों ने हृदय से इन गौवंश (सांडो सहित) की सेवा कर आज औसत में एक गाय से दिनभर में करीब 40 लीटर दूध पाने की शानदार स्थिति बना ली।

अब इन बातों पर जरा ध्यान

ब्राजील इन भारतीय देसी गायों के दूध से पाउडर बना कर ऑस्ट्रेलिया, ड़ेनमार्क को निर्यात करता है। जबकि डैनमार्क जैसे देश में आदमी से अधिक संख्या में उनके देश की गाय हैं। लेकिन आश्चर्य है,वो हकीकत को समझते हैं, इसलिए अपनी गायों का दूध नहीं पीते। वहाँ milk is white poison वाली बात प्रचलित है। वहां ब्राजील से आने वाली भारतीय नस्ल की गायों का दूध और दूध पाउडर का ही उपयोग किया जाता हैं। डेनमार्क में ही नहीं, आस्ट्रेलिया और आस पास के देशों में भी ब्राजील से आने वाले भारतीय नस्ल की गायों के दूध का उपयोग किया जाता है। और तो और, ऑस्ट्रेलिया, डेनमार्क आदि देश अपनी जर्सी होलस्टीन युवान (जिन्हें हम गाय कहते नहीं थकते) के दूध से पाउडर निकाल कर हमारे देश भारत को भेजता है और हम बड़े शौक से इस जहर का उपयोग करते हैं। जबकि इस पाउडर के ऑस्ट्रेलिया में उपयोग में उपयोग पर कड़ा प्रतिबन्ध है और वे सिर्फ ब्राजील के दूध पाउडर को ही उपयोग में लाते हैं।

क्यों ?

क्योंकि ऑस्ट्रेलिया, डैनमार्क आदि देशो की जर्सी गायों के दूध से डायबिटीज़, कैंसर जैसी भयंकर बीमारी फैलती है। जबकि ब्राजील से आने वाला भारतीय गायो का दूध इन बीमारियों को खत्म करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। आज हमारा भारत डायबिटीज़ व कैंसर की बीमारी की विश्व राजधानी बनता जा रहा है। भारत की प्रत्येक डेयरी में हुए सम्पूर्ण दूध में से फैट निकालकर और उसमे इस आयातित दूषित ऑस्ट्रेलियन, ड़ेनमार्क का दूध पाउडर मिलाकर प्रोसेस किया जहर थैलियों के माध्यम से हमारी रसोई तक पहुंचाया जाता है। 

ये कैसा दुष्चक्र है?

भारत की देसी गाय ब्राजील में और वहाँ से दूध और दूध का पाउडर आस्ट्रेलिया और डेनमार्क में। ऑस्ट्रेलिया, डेनमार्क का दूषित दूध पाउडर बनकर भारत में।

और फिर होता है -

बिलियन डॉलर के दवाइयों का आयात।

एक बार इस विषय में जरुर विचार करें।



हिन्दू   जीवन शैली

Rated 0 out of 0 Review(s)

इस आर्टिकल पर अपनी राय अवश्य रखें !




हाल ही के प्रकाशित लेख

हिंदु धर्म में क्या है जनेऊ का महत्व ? यहां जाने पूरी जानकारी लगभग 7 माह पहले धर्म एवं संस्कृति में सम्पादित

एक शोधपूर्ण सच्चाई ब्राजील की। लगभग 7 माह पहले जीवन शैली में सम्पादित

एक पीढ़ी, संसार छोड़ कर जाने वाली है। कौन है वो लोग ? लगभग 7 माह पहले जीवन शैली में सम्पादित

हाथी का सिर और इंसानी शरीर ! दुनियाँ की पहली प्लास्टिक सर्जरी.. लगभग 7 माह पहले धर्म एवं संस्कृति में सम्पादित

1990 के दशक का जीवन लगभग 7 माह पहले जीवन शैली में सम्पादित

देवता कमरुनाग जी और उनकी झील का इतिहास लगभग 7 माह पहले धर्म एवं संस्कृति में सम्पादित

ऋषि पराशर मंदिर और पराशर झील का इतिहास और कुछ वैज्ञानिक तथ्य । लगभग 7 माह पहले धर्म एवं संस्कृति में सम्पादित

शिकारी माता मंदिर का इतिहास और कुछ रोचक तथ्य l लगभग 7 माह पहले धर्म एवं संस्कृति में सम्पादित

हिमाचल के इस स्थान में नहीं मनाया जाता दशहरा उत्सव l जाने आखिर ऐसा क्यों होता है ? लगभग 7 माह पहले धर्म एवं संस्कृति में सम्पादित

भगवती भद्रकाली भलेई माता चम्बा का इतिहास लगभग 7 माह पहले धर्म एवं संस्कृति में सम्पादित
Top Played Radios