योगासन - तनाव व रोंगों से मुक्ति

22 May, 2021

योग का वर्णन वेदों में फिर उपनिषदों में और फिर गीता में मिलता है, लेकिन पतंजलि और गुरु गोरखनाथ ने योग के बिखरे हुए ज्ञान को व्यवस्थित रूप से लिपिबद्ध किया है ।

प्रमुख आसन : किसी भी आसन की शरुआत लेटकर अर्थात श्वासन (चित लेटकर) और मकरासन (औंधा लेटकर) में और बैठ कर दण्डास्न और वज्रासन में खड़े हो कर अर्थात सावधान मुद्रा या नमस्कार मुद्रा से होती है । यहां कुछ आसनों के नाम निम्न है

  1. सूर्य नमस्कार
  2. उत्कटासन
  3. उपधानासन
  4. आकर्णधनुष्टंकारासन
  5. उतान कुक्करासन
  6. उत्तानपादासन
  7. कुर्मासन
  8. कोणासन
  9. गरुड़ासन

इस प्रकार योग आसन उम्र के हिसाब से अलग अलग प्रकार के होते है । जैसे बच्चों के लिए योग आसन, वृद्धों के लिए योग आसन ,गर्भवती महिलाओं के लिए योग आसन, बैठकर करने वाले योग आसन, खड़े हो कर करने वाले योग आसन, पेट के बल लेट कर करने वाले योग आसन विभिन्न बिमारियों को दूर करने के लिए योग आसन, मोटापा दूर करने के वाले योग आसन ।


सेहत   जीवन शैली

Rated 0 out of 0 Review(s)

इस आर्टिकल पर अपनी राय अवश्य रखें !




हाल ही के प्रकाशित लेख

ध्रुव तारे की कहानी लगभग 9 माह पहले धर्म एवं संस्कृति में सम्पादित

शाहजहां कितनों की हत्या करके बना था राजा लगभग 9 माह पहले इतिहास के पन्ने में सम्पादित

कुम्भकरण ने क्यों माँगा था ऐसा वरदान लगभग 9 माह पहले धर्म एवं संस्कृति में सम्पादित

कैसे बने शुक्राचार्य राक्षसों के गुरु लगभग 9 माह पहले धर्म एवं संस्कृति में सम्पादित

लंकाधिपति रावण जीवन परिचय लगभग 1 वर्ष पहले धर्म एवं संस्कृति में सम्पादित

सूरदास - जीवन परिचय लगभग 1 वर्ष पहले व्यक्तित्व में सम्पादित

सोया चाप - बनाने की आसान विधि लगभग 1 वर्ष पहले जीवन शैली में सम्पादित

कर्ण - महाभारत का एक दानवीर योद्धा लगभग 1 वर्ष पहले धर्म एवं संस्कृति में सम्पादित

योगासन - तनाव व रोंगों से मुक्ति लगभग 1 वर्ष पहले जीवन शैली में सम्पादित

वृद्धावस्था पेंशन योजना क्या है ? लगभग 1 वर्ष पहले सरकारी योजनायें में सम्पादित
Top Played Radios